समर्थक

सोमवार, 3 फ़रवरी 2014

गौरैया के नाम


वैसे हमारे देश भारत में गौरैया को कई नामों से पुकारा जाता है। जैसे गौरा और चटक।  लेकिन क्या आप जानते हैं कि हमारी इस घरेलू पक्षी (गौरैया) के और क्या - क्या नाम हैं ? उर्दू में गौरैया को चिड़िया तथा सिंधी भाषा में झिरकी भी कहा जाता है। गौरैया को भोजपुरी में चिरई तथा बुन्देली में चिरैया कहते हैं। इसे भारत के कई राज्यों में भिन्न - भिन्न नामों से पुकारा जाता है जैसे ,,,,,


जम्मू और कश्मीर - चेर 
पंजाब - चिड़ी
पश्चिम बंगाल - चरूई
ओडिशा (उड़ीसा) -  घरचटिया
गुजरात - चकली 
महाराष्ट्र - चिमानी
कर्नाटक - गुब्बाच्ची
आन्ध्र प्रदेश - पिच्चूका
केरल, तमिलनाडु - कूरूवी

   
यहाँ आने के लिए आप सबका सादर धन्यवाद।। 

13 टिप्‍पणियां:

  1. उत्तर
    1. टिप्पणी हेतु आपका धन्यवाद,,, आपकी दी हुई जानकारी को लेख में जोड़ दिया गया है। आपका "गौरेया" ब्लॉग से जुड़ने के लिए हार्दिक धन्यवाद।।

      हटाएं

  2. ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन १७ साल पुराने मामले मे रेलवे देगा हर्जाना - ब्लॉग बुलेटिन मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. सहर्ष धन्यवाद ब्लॉग बुलेटिन टीम।

      हटाएं
  3. मेरे घर में बहुत रहती हैं मेरे साथ साथ :) 100 से ज्यादा

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. टिप्पणी हेतु धन्यवाद। ख़ुशी की बात है कि आपके साथ इतनी गौरैया रहती है। :-)

      हटाएं
  4. उत्तर
    1. प्रथम बार "गौरेया" पर टिप्पणी हेतु हार्दिक धन्यवाद। :-)

      हटाएं
  5. फुदकी भी कहते हैं, हम गाँव मे :)

    उत्तर देंहटाएं
  6. हम तो यहाँ गोरैय्या देखने को तरस गए ........छत्तिस गढ़ में इसे चिरई कहते हैं ....

    उत्तर देंहटाएं
  7. बहुत सुन्दर जानकारी ..
    Vigat varsh gauraiya par hamne ek kabya visheshan nikala hai aur es varsh bhi nikalne ja raha hun.

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत सुन्दर जानकारी ..
    Vigat varsh gauraiya par hamne ek kabya visheshan nikala hai aur es varsh bhi nikalne ja raha hun.

    उत्तर देंहटाएं
  9. shadi ko 36 saal ho gye hmare goswamiji yani mere husband bina naagaa roj chidiyon ke khane peene ka bndobst krte hain.unke jagte hi chidiya boundry wall pr aa kr chahkna shuru kr deti hain. in chidiyaaon ke sath sath kai tarah ke pakshi bhi hmare ghr roz aate hain. ye pahli bird hai jise hmne aas paas itnaa dekha ki ye ekdm apni si lgne lgi hai.

    उत्तर देंहटाएं

आपकी अमूल्य टिप्पणी के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद।
गौरेया के लेख पसंद आने पर कृपया गौरेया के समर्थक (Follower) बने। धन्यवाद।

लोकप्रिय लेख